REET Level 2 Syllabus 2020 PDF in Hindi नया सिलेबस- Class 6th to 8th

By | November 25, 2020

REET Level 2 Syllabus 2020 PDF

The Board of Secondary Education, Ajmer has released REET Level 2 Syllabus 2020 PDF format. Applicants who have submitted their REET Application Form, They can check Rajasthan 3rd Grade Teacher Level 2 Syllabus. Participators check Syllabus PDF of Rajasthan REET Second level syllabus through here. In REET L2 Syllabus 2020, The topic covered are Child Development and Pedagogy, Social Studies, Mathematics & Science also included in it. Board will soon release 3rd Grade Teacher Vacancy. So candidates ready to appear in REET Recruitment Exam 2020. So stay aware about the REET Syllabus 2020 and make continue exam preparation.

REET Level 2 Syllabus 2020 PDF

BSER REET Level 2 Syllabus 2020

Applicants who have submitted their REET application form, Now access Rajasthan REET Syllabus 2020. The REET Syllabus released by the Rajasthan Board of Secondary Education, Ajmer. The RBSE declared 3rd Grade Teacher Recruitment Notification for various vacancies of 3rd Grade Teacher Level 1 and Level 2. Various candidates has registered for REET 2020. Candidates start exam preparation. We have provide REET Exam Syllabus PDF here. After opening the lockdown, Rajasthan REET 2020 Notification will publish online.

रीट का पाठ्यक्रम रटने का कम, समझने का ज्यादा

इस पाठ्यक्रम में हिंदी, संस्कृत, अंग्रेजी व्याकरण, गणित, सामाजिक विज्ञान एवं विज्ञान-गणित का पाठ्यक्रम एनसीईआरटी पर आधारित बेसिक अवधारणाओं को समेटे हुए है। रटने वाले रजिस्टर भरने वाले विद्यार्थी अक्सर फ़ैल हो जाते है। इसलिए आपको सम्पूर्ण विषय को समझकर तैयारी करनी चाहिए।

यह रहता है परीक्षा पैटर्न

परीक्षा में कुल सवाल 150

30 सवाल शिक्षा मनोविज्ञान के चयनित विषय या प्रथम भाषा के 30 सवाल
30 सवाल द्वितीय भाषा के
लेवल 1 में 60 सवाल पर्यावरण, सामान्य विज्ञान, राजनीति, राजस्थान भूगोल, अर्थशास्त्र और विषय विधि से जुड़े होते है। लेवल 2 में 60 सवाल राजनीति, भूगोल, अर्थशास्त्र और विषय विधि से सम्बंधित होते है। साथ ही इसमें गणित और विज्ञान शामिल है। 

REET 2020 Admit Card, BSER रीट एडमिट कार्ड

Download Level 1 Syllabus PDF

रीट की ऐसे करें तैयारी : गणित विज्ञान

गणित विज्ञान के सिलेबस में छह छह यूनिट पाठ्यक्रम के निर्धारित है। इसमें दोनों ही विषयों के अंतिम तीन-तीन यूनिट बहुत ही महत्वपूर्ण है। इनके सामान अंक है और कठिनाई स्तर भी काफी कम है। इन यूनिटों पर अच्छी पकड़ से अच्छे अंक हासिल कर सकते है। इन तीन यूनिटों में शिक्षण विधियाँ, सांख्यिकी व आधुनिक विज्ञान के टॉपिक है जिसमे आने वाले प्रश्नों कठिनाई स्तर कम होता है। इन टॉपिकों पर विद्यार्थी कम अभ्यास से ही मजबूत पकड़ कर सकते है। जबकि शरुआती तीन यूनिट का कठिनाई स्तर इनके मुकाबले ज्यादा है। दोनों विषयों के कुल 60 अंक के प्रश्न पूछे जाने है। रीट परीक्षा का आयोजन राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर की ओर से होना है। इसलिए माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की माध्यमिक व उच्च माध्यमिक स्तर की पुस्तकों से विशेष रूप से तयारी करें। अन्य पुस्तकों मुकाबले बोर्ड की पुस्तकें प्रामाणिक है। विज्ञानं में बल, कार्य व प्रकाश से सम्बंधित संख्यात्मक प्रश्नों को हल करने का अभ्यास काफी फायदेमंद रहेगा। गणित विज्ञानं की तैयारी के लिए क्लास आठवीं नवीं एवं दसवीं की पुस्तकों में दिए विशेष तथ्य प्रश्नो को हल करें। 

reet math syllabus

Rajasthan REET 2nd Level Syllabus Detail

  • Exam Conducting Board:- RBSE (Rajasthan Board of Secondary, Education)
  • Exam Name:- REET 2020-21
  • Designation:- 3rd Grade Teacher
  • Total Vacancies:- 31,000 Posts
  • Exam Date:- Update Soon
  • Official Site:- http://rajeduboard.rajasthan.gov.in/

REET 2020 Level 2 Exam Syllabus Hindi PDF

The RBSE uploaded REET Exam Syllabus in PDF Format. Candidates easily download PDF. We provide REET L2 Syllabus PDF. Applicants can download the language II Syllabus through the link provided below.

रीट परीक्षा: हिंदी की ऐसे करें तैयारी

रीट परीक्षा के एक खंड में अभ्यर्थियों को किसी एक भाषा का चयन करना होता है। यदि अभियार्थी ने प्रथम भाषा के रूप में हिंदी का चयन किया है। तो इसमें एक एक अंको के 30 प्रश्न पूछे जायेंगे। इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी। 15 अंक व्याकरण व 15 अंक शिछण विधि के लिए निर्धारित है। एक्सपर्ट का मानना है कि अभियर्थियों को हिंदी विषय की तैयारी के लिए राजस्थान बोर्ड की नवीन हिंदी व्याकरण से तैयारी करनी चाहिए। अभ्यर्थियों को हर टॉपिक को नया मानकर तैयारी करनी चाहिए। पूर्व में आयोजित रीट परीक्षा 2017 के प्रश्न पत्रों का दोहरान करें व इसके आधार पर तैयारी करें। सैद्धांतिक विषय वस्तु के अध्ययन को अधिक समय दें। प्रश्न पत्र में अपठित गद्यांश होंगे। प्रत्येक गधांश पर 5-5 प्रश्न होंगे।

इन प्रश्नों में संधि, समास, उपसर्ग, प्रत्यय, संज्ञा, सर्वनाम, विषेशण, शब्द-वर्गीकरण, लिंग, वचन, काल, एकार्थी शब्दों से सम्बंधित प्रश्न पूछे जायेंगे। इसमें अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए व्याकरण का अध्ययन करना होगा। क्लास छटवी से दसवीं तक संचालित माध्यमिक बोर्ड की पुस्तकों में दिए व्याकरण प्रश्नो के स्वयं के नोट्स तैयार कर अभ्यास करें। एक प्रश्न वाक्य भेद का एक पदबंध का, एक प्रश्न लोकोक्ति, मुहावरे से सम्बंधित होगा। इसलिए वाक्य विचार टॉपिक का गहन अध्ययन करना होगा। शेष प्रश्न शिछण विधियों से सम्बंधित होंगे। शिक्षण विधियों के गहन अध्ययन के लिए बीएसटीसी, बीएड में संचालित हिंदी भाषा शिछण पुस्तक का अध्ययन कर सकते है। 

RBSE REET L2 Language 1 Hindi Syllabus

REET L2 Language 1 English Syllabus

Raj REET L2 Language 1 Sanskrit Syllabus 2019

REET L2 Language 1 Urdu Syllabus

REET L2 Language 1 Sindhi Syllabus 2019

Rajasthan REET L2 Language 1 Gujarati Syllabus

REET L2 Language 1 Punjabi Syllabus 2019

RBSE REET L2 Language 2 Hindi Syllabus

REET L2 Language 2 English Syllabus

Raj REET L2 Language 2 Sanskrit Syllabus 2019

REET L2 Language 2 Urdu Syllabus

REET L2 Language 2 Sindhi Syllabus 2019

Rajasthan REET L2 Language 2 Gujarati Syllabus

REET L2 Language 2 Punjabi Syllabus 2019

REET Level 2nd Syllabus in Hindi

(1) Child Development & Pedagogy 

बाल विकास के महत्वपूर्ण कथन

शैशवावस्था (जन्म से 5 वर्ष की उम्र)

ब्रिजेस– “दो वर्ष की उम्र तक बालक में लगभग सभी संवेगों का विकास हो जाता है। “

वेलेंटाइन– “शैशवावस्था सीखने का आदर्शकाल है। “

सिगमंड फ्रायड के अनुसार– “शिशु में काम प्रवृति बहुत प्रबल होती है पर वयस्कों की भांति उसकी अभिव्यक्ति नहीं होती। “

रूसो के अनुसार– “बालक के हाथ, पैर व नेत्र उसके प्रारम्भिक शिक्षक है। इन्ही के द्वारा वह ५ वर्ष में ही पहचान सकता है, सोच सकता है और याद कर सकता है। “

reet syllabus pdf

बाल्यावस्था (6-12)

कोल एवं ब्रूस ने– “बाल्यावस्था को जीवन का अनोखा काल कहा जाता है। “

रॉस:- “बाल्यावस्था को मिथ्या या छद्म परिपक्वता कहा है। “

सिगमंड फ्रायड के अनुसार– “”बाल्यावस्था को काम की प्रसुप्तावस्था कहा है। “

स्ट्रैंग– “ऐसा शायद ही कोई खेल हो जिसे दस वर्ष के बालक न खेलते हो”

किशोरावस्था (13-18)

स्टेनली हॉल के अनुसार– “किशोरावस्था प्रबल दबाव, तनाव, तूफान व संघर्ष का काल कहा है। “

ई. ए. किलपैट्रिक ने– “किशोरावस्था को जीवन का सबसे कठिन काल कहा है “

रॉस के अनुसार– “किशोरावस्था, शैशवावस्था की पुनरावृत्ति है “

वैलेन्टिन के अनुसार– “घनिष्ठ व व्यक्तिगत मित्रता उत्तर किशोरावस्था की विशेषता है “

रीट:- बाल विकास की तैयारी के टिप्स

1.  व्यक्तित्व

व्यक्तित्व व्यक्ति के बाहरी तथा आंतरिक गुणों का समन्वय है। जिसमे व्यक्ति की मनो तथा शारीरिक दोनों प्रकार के गुण समाहित रहते है।

आलपोर्ट के अनुसार:- ‘व्यक्तित्व व्यक्ति के अंदर उन मनोशारीरिक गुणों का गत्यात्मक संघठन है, जो वातावरण के साथ उसका एक अनूठा समायोजन स्थापित करते है।’

2. बुद्धि 

बुद्धि व्यक्ति की एक जन्मजात शक्ति एवं मानसिक योग्यता है जो व्यक्ति को समायोजन, समस्या समाधान, तर्क-वितर्क, चिंतन-मनन की छमता प्रदान करती है। बुध्दि एक अमूर्त योग्यता है। इसका स्रोत वंशानुगत होता है।

वुडवर्थ– “बुद्धि से तात्पर्य योग्यता को प्राप्त करने की योग्यता है। “

बर्ट– “बुद्धि से तात्पर्य भली प्रकार से निर्णय लेना, भली प्रकार अवबोध करना तथा भली प्रकार तर्क करना है। “

बुद्धि की विशेषताएं

  1. बुद्धि व्यक्ति की जन्मजात शक्ति है।
  2. व्यक्ति को अमूर्त चिंतन की योग्यता प्रदान करती है।
  3. व्यक्ति को विभिन्न बातों को सिखने में सहायता देती है।
  4. बुद्धि पर वंशानुक्रम और वातावरण का प्रभाव पड़ता है।
  5. प्रिंटर (Printer) के अनुसार:- बुद्धि का विकास जन्म से लेकर किशोरावस्था के मध्यकाल तक होता है।

संवेगात्मक बुद्धि

डेनियल गोलमैन – “संवेगात्मक बुद्धि व्यक्ति के स्वयं के एवं दूसरों के संवेगों को पहचानने की वह छमता है जो हमें प्रेरित कर सकने और हमारे संवेगों को स्वयं में और अपने संबंधों के दौरान भली प्रकार साधने में सहायक होती है। “

3. अभिप्रेरणा 

शाब्दिक अर्थ की दृष्टि से अभिप्रेरण के समानार्थक अंग्रेजी शब्द ‘Motivation’ है। जिसकी व्युत्पत्ति लेटिन (Latin) भाषा के शब्द मोटम (Motum) से हुई है जिसका अर्थ है गति या ‘to move’ अर्थात “कोई क्रिया करना’

  1. स्किनर- “अभिप्रेरणा अधिगम का सर्वोत्कृष्ट राजमार्ग है। “
  2. गुड़- “अभिप्रेरणा क्रिया को आरम्भ करने, जारी रखने तथा नियंत्रित करने की प्रक्रिया है।”

अभिप्रेरक

जन्मजात अभिप्रेरण:- ये अभिप्रेरक व्यक्ति में जन्म से पाए जाते है जैसे- भूख, प्यास, विश्राम, निंद्रा, सुरक्षा, काम आदि।

अर्जित अभिप्रेरण:- ये प्रेरक जिन्हे प्राणी अपने प्रयासों से प्राप्त करता है जैसे – सामाजिकता, रूचि, प्रतिष्ठा, युयुत्सा, और आत्मस्थापना आदि।

(2) REET Level 2 Language 1 Syllabus PDF

(3) REET Level 2 Language II Syllabus PDF

REET Level 2 Mathematics and Science Syllabusreet level 2 math-science syllabus

reet level 2 syllabus pdf

(5) REET Level 2 Social Science Syllabus PDF

रीट सामाजिक अध्ययन की तैयारी ऐसे करें

सामाजिक अध्ययन में पाठ्यक्रम को विभाजित कर अभ्यर्थियों के लिए काफी फायदेमंद रहेगा। अभियर्थियों को एनसीईआरटी की बुक और एसआईईआरटी की पुस्तकों से ही अध्ययन करना चाहिए, क्युकी इन पुस्तकों के तथ्यों में गलती होने की सम्भावना काफी कम है। सामाजिक अध्ययन में अभियर्थियों की संख्या अधिक होने के कारण प्रतिस्पर्धा काफी अधिक रहेगी। अब अभियर्थियों को नए टॉपिक पड़ने की बजाय रिवीजन पर ज्यादा जोर देना होगा। भूगोल विषय के सन्दर्भ में तीन यूनिट का विभाजन करके अध्ययन करना होगा।

reet syllabus

How to download REET Level 2 Syllabus PDF

  • Candidates must watch the official site of RBSE (Rajasthan Board of Secondary Education)
  • Now Check “REET/ RTET” Portion on the home page.
  • Click on it.
  • The REET Level 2 Syllabus PDF will appear on the site, click on it.
  • REET Level 2 syllabus will appear in a pdf.
  • You can download and save for further use.

reet psychology syllabus pdf

रीट की ऐसे करें तैयारी : सामाजिक अध्ययन

रीट द्वितीय लेवल की परीक्षा में सामाजिक अध्ययन के परीक्षार्थियों से प्रश्न पत्र के चतुर्थ खंड में विषय के 60 प्रश्न पूछे जायेंगे। इन 60 प्रश्नों के लिए सामाजिक अध्ययन के पाठ्यक्रम में 12 इकाइयां है, जिनमे प्रत्येक से पांच प्रश्न पूछे जाने है। इनमे से चार इकाई भूगोल, चार इतिहास एवं संस्कृत, दो राजव्यवस्था, दो शिक्षा शास्त्रीय मुद्दों से सम्बंधित है। एक्सपर्ट राजीव बगड़िया ने बताया की सामाजिक अध्ययन विषय की तैयारी के लिए माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की क्लास छह से बारहवीं तक की पाठ्यक्रमों का अध्ययन करना चाहिए। वहीं नियमित पेपर से अध्ययन सफलता दिला सकता है।

भूगोल:- भूगोल विषय में 10 प्रश्न विश्व के भौतिक व संसाधन भूगोल से तथा पांच पांच प्रश्न भारत व राजस्थान के भूगोल से पूछे जाने है। पिछले रीट के प्रश्न पत्रों को हल कर अभियार्थी आत्मविश्वास बढ़ा सकते है।

इतिहास:- इतिहास विषय में दस प्रश्न प्राचीन भारतीय इतिहास से, पांच प्रश्न मध्यकाल व आधुनिक काल से तथा पांच प्रश्न राजस्थान के इतिहास एवं संस्कृति से पूछे जायेंगे। एक्सपर्ट का कहना है की इतिहास को रटने की बजाय नोट्स बनाकर पड़ना चाहिए।

राजव्यवस्था:- राजव्यवस्था में पांच प्रश्न भारतीय संविधान एवं पांच प्रश्न सरकार के गठन एवं कार्यो से सम्बंधित पूछे जायेंगे। पंचयात से लेकर जिला परिषद, विधानसभा और लोकसभा से जुड़े सवाल पूछे जाने है।

शिक्षा शास्त्रीय मुद्दे:- शिक्षा शास्त्रीय मुद्दे के दस प्रश्न सामाजिक अध्ययन विषय की प्रकृति, अध्यापन की समस्या, शिछण अधिगम सामग्री व मूल्याङ्कन से पूछे जाने है। इस विषय को लेकर अलग अलग पुस्तकों में अलग अलग तथ्य दिए है।

Important Links

Exam Events Download Links
REET Latest News & Updates Click Here
REET Recruitment 2019-20 Click Here
Online Application Form Click Here
Check Official Exam Notification Click Here
Check REET Eligibility Click Here
Level 1 Syllabus PDF Click Here

RBSE REET 3rd Grade Teacher Syllabus Hindi PDF

Candidates can check and access complete RBSE REET 3rd Grade Teacher Syllabus in Hindi pdf format. We have also provided REET level 2 Syllabus in details. If any applicants have queries then he/ she can comment us. Our experts will provide the right answer soon. For latest updates and REET News, you can tune with us.

रीट की तैयारी:- संस्कृत

अभ्यर्थी प्रथम या द्वितीय भाषा के रूप में संस्कृत विषय का चयन करता है तो इस प्रश्न पत्र में 30 अंको के परेशान पूछे जायेंगे। प्रश्नो का माध्यम संस्कृत भाषा होगी अर्थात प्रत्येक प्रश्न व उनके विकल्प संस्कृत भाषा में ही लिखे होंगे। प्रत्येक प्रश्न एक अंक का होगा। रीट के इस प्रश्न पत्र में भी ऋणात्मक अंकन नहीं होगा। प्रश्न पत्र में एक अपठित गद्यांश व एक अपठित पधांश होगा। प्रत्येक से पांच पांच प्रश्न होंगे। ें प्रश्नो में संधि, समास, उपसर्ग, प्रत्यय, शब्दरूप, धातुरूप, सर्वनाम, विशेषण व अव्यय से सम्बंधित प्रश्न होंगे। राम, लता, हरी, गुरु, पितृ शब्दों के शब्दरूप। किसी एक धातु तथा पठ धातु (परस्मै पद) के पांचों लकारों (लट, लोट, लरट, लंग, विधिलिंग) के धातुरूप। 

रीट भर्ती परीक्षा में क्या बदलाव हो सकते है –

1. रीट में लेवल -2 में वैटेज सिस्टम पर विवाद है ?

Ans. लेवल-2 में वैटेज सिस्टम ख़त्म किया जायेगा। अभी रीट के 90 फीसदी अंक जुड़ते है। जबकि ग्रेजुएशन के 30 फीसदी अंक जोड़े जाते है। इससे कई राज्यों से फर्जी डिग्री लाकर भी युवा नौकरी लग चुके है। अब रीट के करीब 90 और ग्रेजुएशन के 10 फीसदी अंक जोड़ने पर फैसला लियाजा सकता है।

2. रीट में एक ही पेपर के विवाद पर क्या फैसला हुआ ?

Ans. रीट में 2 की जगह सिर्फ 1 ही पेपर होगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से इस पर सहमति मिल गयी है।

3. रीट में कॉमर्स संकाय के छात्रों को भी शामिल करने की मांग है ?

Ans. कॉमर्स के छात्रों की भी रीट भर्ती में शामिल किया जा सकता है।

4. दूसरे राज्यों के युवाओं को भर्ती से बाहर करने की मांग का क्या हुआ ?

राज्य की सरकारी भर्तियों में सिर्फ स्थानीय युवाओं को ही मौका देने की मांग हो रही है। सरकार इस पर मसौदा लेकर आएगी। रीट में 20 से 30 फीसदी युवा दूसरे राज्यों के युवा शामिल होते है। 

Related Posts

RPSC 2nd Grade Teacher Result 2021 Subject Wise download

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *